सास को बीवी बनाया – aerograf31.ru, free sex story

मेरी पत्नी की माँ, यशोदा 55 वर्ष की आयु में एक सेक्सी औरत हैं और , उनके पास अब भी सबसे खूबसूरत पैर हैं | में पहले दिन से ही उनके शारीर को देखता आ रहा था लेकिन सोचा यह की यह संभव नहीं हगा | यशोदा ने मुझे कभी मोका नहीं दिया और ना ही कभी इशारा किया किसी भी तरह से की हमारे बिच कुछ होगा | मगर ऐसा हुआ, मुझे मेरे कंपनी वालो ने उन्ही के शहर में भेज दिया एक हफ्ते के लिए | मेरी पत्नी ने मुझे कहा की में उन्ही के घर पे रुक जून जब तक मेरा काम नहीं हो जाता |

Sasu maa chudai

मैं वह गया और शाम को उन्ही के घर पे था, उन्हें लगा की में पिया हुआ हू, मगर उसदिन मेने पिया हुआ नहीं था, बस ऐसे ही बैठा हुआ था | में भहुत खुश था जब में और यशोदा किचन में थे और यशोदा ने मेरे कमर पे अपना हाथ रखा हुआ था | मेने फिर उसका हाथ पकड़ा और उसको अपनी तरफ खीचा | घर तो पहले से ही खाली था | हम एक दूसरे के सामने खड़े थे और वो भी हलकी गुलाबी रंग के बाटी के निचे | उसने मुझे कुछ नहीं कहा और में उन्हें किस करने लगा पहले तो गाल पे किया | उसी समाये यशोदा ने भी मुझे बदले में किस किया | हम फिर शांति से एक दूसरे को चूमने लगे, एक सांस और दामाद के रिश्ते से नहीं बल्कि के आशिक की तरह और वो भी होठ पे होठ रख के वो भी ५ मिनट तक |

मेरा सपना जेसे सच होने लग रहा था, में तो बिच बिच में यह सोच रहा था की मेरी सांस मेरे साथ ये सब कर रही हे, फिर मुझे पता चला की वो बहुत गरम हे अभी |उन्होंने मुझे लगे लगा लिया और उनके बड़े बड़े दोने चुचे मेरी छाती से टकराकर पिचक गए | हमदोनो के हाथ एक दूसरे के सह्रीर पे यहाँ वह घूम रहे थे | उनके चुचे उनकी बेटी से भी बड़े थे | उन्होंने काले रंग का कुरता पहना हुआ था जो उनके घुटनों तक आ रहा था, और मेने जब धयन दिया तो देखा की उन्होंने निचे भी कुछ नहीं पहना हुआ था | जेसे ही मेने उनको फिर से चूमने लगा उनका हाथ मेरे लंड से रगड़ना शुरू हो गया | में उनके सामने झुक गया और उन्होंने अपनी टाँगे मेरे सामने खोल दी |

में उन्हें बस युही घूरता रहा, और मन तो किया की उनकी टांगो की पूजा करू, क्या टाँगे थी उनकी, देख के तबियत खुश हो गयी | मेने फिर उनके जांघों को चूमना शुर कर दिया, उनका कुरता मेरे सर से लगा और ऊपर की तरफ उठ गया | जेसे ही मेरा सर उनके चुत के बराबर आया, मेने उनकी चुत पे फिर एक लंबा किस किया और उनकी चुत की खुशबु उनके पुरे शारीर से आने लग गयी थी | उनके पैर काँप रहे थे, जेसे जेसे में उनके पेरो को चूम रहा था और उनके मुह से अब सिसकिय निकलने लग गयी थ आआःह्ह ह्म्म्म्म्म्म्म उफ्फ्फ्फ्फ्फ्फ़ ऊऊऊऊ मेरे बेटे मत रुको करते रहो ऐसे ही करो और करो अह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह तुम मुझे पागल बना दोगे आज हम्म्म्म आह्ह्ह्ह्ह्ह्ह मेरी बेटी मुझे मर देगी हमे यही रुक जाना चाहिए नाआआआआअ हाआआआआआ |

सासू माँ की चुदाई की Kahani

मेने अपना सर उन्ही के चुत में घुसाये रखा | उनका अब पूरा शारीर काँप रहा था ऐसा लग रहा था जेसे उनको बुखार हे | दस मिनट के बाद उन्होंने मुझे कमरे में चलने को कहा, और वह पहुचने के बाद उन्होंने अपना कुरता उतार दिया | वो फिर पूरी की पूरी नंगी हो गयी, फिर उन्होंने मुझे मेरे होठो पे चूमा और उनके चूमते ही मेरी दिल की धडकन तेज हो गयी और उन्हें पेलने के लिए मेरा लंड पागल सा होने लगा | मेने फिर उनकी चुत पे हाथ रख दिया और उससे रगड़ने लगा |

वो धीरे धीरे निचे को हुई और मेरी पेंट उतर दी और चड्डी भी | और वो मेरे कड़क लंड को देख के दांग रह गई, और बोली की एस कड़क जानवर के लिए मुझे कुछ करना पड़ेगा यह कहते कहते उनके चेरेह पे मुस्कान भी थी और खुशी भी | उन्होंने मुझे फिरसे देखा और एक मुस्कराहट दी और फिर मेरे लंड के छेद में अपना जीभ लगा दी और उसके लगते ही मेरे शारीर पे एक करंट सी डोड पड़ी |

जब वो उठी तो मेने उन्हें किस किया और फिर उनके कड़क निप्पल को चूसने लगा | में तो दांग रह गया था की ५५ की उम्र में भी इनके चुचे इतने कड़क केसे थे | और उनका शारीर एक दम उनकी बेटी मतलब मेरी बीवी की तरह थी | हम दोनों फिर बिस्तर पे लेट गए और फिर मेने उनके पेट से लेके उनकी चुत तक अपनी जीभ से लकीर बनाई, और इतने में वो बोल पड़ी बेटे मेरी चुत को चाटो……अह्हह्ह ह्म्म्म्म्म्म्म्म मुझे बहुत पसंद हे, चूसो इसको जोर जोरसे चूसो |

मेने वेसा ही किया जेसे वो मुझे बोल रही थी, वो धीरे धीरे पागल सी होने लग गयी थी | में तो यह कहूँगा की उनकी चुत के पानी का सबसे बदिया स्वाद था, मजा आ गया पि के | उन्होंने अपने पेरो को मेरे गर्दन पे डाल दिया और मुझे अपनी तरफ खिचने लगी, और मुझे उनकी चुत की छोटे छोटे बाल मेरे मुह पे चुभ रहे थे | उन्होंने अपनी चुत को मेरे मुह में गाड दिया और बोलने लगी बेटा मेरा पानी निकाल दो, और चूसो और और , ऐसे करो जेसे तुम मेरी बेटी का करते हो….निकाल दो सारा पानी……… | में उनकी चुत को और चाटने और चूसने लगा और वो अपनी कमर को मेरे मुह पे उछाल उछाल के देने लगी |

अह्ह्ह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह्ह में झड़ने वाली हू ह्म्म्म्म्म्म आआआया ऊफ्फ्फ्फ़ में तुम्हारे मुह में ही झड जाउंगी आआः अह्हह्ह तुम्हारी माँ झड़ने वाली ह अह्ह्ह ह्म्म्म्म्म्म र और और जोरसे चूसो और और करो जोर जोर से करो और इतना कहते कहते उन्होंने पूरा पानी मेरे मुह पे ही छोड दिया | और मेने वो सारा पानी पि गया, और मेने आपको जेसे बताया था की उनके पानी का स्वाद कुछ अजीब और मस्त वाला था सो मेने वो पूरा चाट चाट के साफ़ कर दिया |

मेरी चुत आज १० साल बाद चुसी गयी हे | अब तुम्हारी बारी हे, मेने भी कोई लंड नहीं चूसा जबसे मेरे पति मर गए हे | मुझे लगत हे की मेरी बेटी और मुझे एक ही लंड से काम चलाना पड़ेगा | उसके बाद हम दोनों एक दूसरे के लंड और चुत को चूसने और चाटने लगे | वो मेरे लंड को चूस कम रही थी, और मेरे लंड के छेद में अपना जीभ बार बार डाल रही थी, जिससे मेरा लंड बार बार फुदक रहा था, और उनकी चुत का पानी बूंद बूंद कर के मेरे मुह में गिर रहा था | मेने फिर उनकी चुत में अपनी दो ऊँगली डाल दी और उनकी चुत को ऊँगली से चोदने लगा, और मेरा नगली उनकी चुत के पानी से पूरा का पूरा भर गया | वो फिर अचानक से रुक गयी और वो फिर मेरे लंड को सीधा पकड़ के उसपे बैठने लगी, शायद उनको पता चल गया था की मेरा लंड अब बहुत गरम हो चूका हे | वो धीरे धीरे मेरे लंड पे बैठने और धीरे धीरे कर के हम दोनों की झाटो के बाल एक दूसरे से चिपक गए |

मुझे उनकी चुत की मास पसिया एक दम महसूस हो रही थी, क्युकी उनकी चुत की मास्पेसिया मेरे लंड को एक दम से घिसती हुई जा रही थी | उन्होएँ अपना सर पीछे को मोड लिया जब मेरा लंड उनकी चुत की गहराई तक गया और वो हलके से कहने लगी……………………… अह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह बेटा यही मुझे बहुत पसंद हे ! फिर वो धीरे धीरे मेरे लंड के ऊपर कुदी मारना एलगी म्मम्मम्म अआआया अह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह ह्म्म्म्म्म्म्म्म्म्म मेरी बेटी किस्मत वाली हे की उसको तुम चोदने के लिए मिले हर रोज | में चाहती हू जब तक तुम यहाँ रहो मुझे इसी तरह की खुशिया दिया करो | मुझे अपनी पत्नी बना के रखा करो म्म्म्म्म्म्म्म्म्म अह्ह्ह्ह्ह और और और
अह्ह्ह्ह्ह्ह्ह मुझे तुम्हारा पानी चाहिए मेरे अंदर |

सेक्सी सास की फ़ुद्दी चुदाई

उनकी वो मदहोशी आवाज़ मुझे पागल सी बना रही थी | सासु माँ आप तो बहुत खूबसूरत हो………… और खास कर शालिनी से जादा सेक्सी हो………और वो भी इतनी टाईट, में तब तक इतना ही कह पाया और देखा की मेरे टोटे में से पानी निकल के सीधा उनकी चुत के अंदर जा के पिचकारी मारा और मेरा शारीर ढीला पड़ गया, और में उनको पकड़ के रखा रहा | फिर वो मेरी तरफ झुक के मुझे चूमने लगी और फिर मेरे होठो को भी चूमा और कटा, फिर उनोने मेरे गर्दन पे चूमके मुज्पे प्यार जताया |

आपको कैसी लगीं? कृपया कमेंट के माध्यम से बताएं और यदि आप भी इनके कोई रोचक किस्से जानते हों तो हमें    ज़रूर भेजें.यदि आपके पास Hindi,English में कोई article, story, essay  या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं

तो कृपया उसे E-mail करें. हमारी Id है: पसंद आने पर हम उसे आपके नाम के साथ यहाँ  PUBLISH  करेंगे. Thanks !

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *