नई चाची के साथ चुदाई, चूत-गांड मारी

नई चाची के साथ चुदाई, चूत-गांड मारी – aerograf31.ru

RANDI CHHINAL AUNTY KI CHUDAI

 

रंडी छिनाल आंटी की चुदाई

मेरी देसी मम्मी और भाभी
मेरा नाम पुनीत है मेरी उम्र 19 साल है मेरे लंड बहुत मोटा है और बड़ा भी ये स्टोरी मेरे घर की है जो रियल स्टोरी है पढ़े और मजा ले।

मेरे घर एक गाँव में है मेरे घर मै मेरी मम्मी सुरेखा जो 46 साल की है दिखने में आज भी माल लगती है उसकी चूचिया बहुत बड़ी है और देसी औरत होने के वजह से वो अभी भी जवान है। मेरे एक बड़ा भाई हैं जो 22 साल है रमेश उसका नाम है। गांव में जल्दी सादी होने के वजह से मम्मी ने भाई की शादी तय कर दी है। और मेरे पापा अब नही है।

मै पढ़ने के लिए शहर में ही रहता हूँ। लगबग 4 साल से गांव नही गया। लेकिन मम्मी ने बताया भाई की शादी है तो गाँव पहुँचा। जब मै गांव पंहुचा तो सादी को एक महीना था। भाई की शादी पड़ोस के गांव से ही हो रही थी।जब मै घर पहुँचा तो देखा घर पर काफी रिस्तेदार थे। मेरे चाचा और चाची भी आये थे जो हमसे बहुत दूर रहते है। और मेरी मौसी और मौसा भी थे। मेरे चाचा की बहू भी आईं थी। यानी मेरी भाभी गांव में सब रिस्तेदार सादी के कुछ दिन पहले से ही डेरा डाल लेते है।

मेरा चाचा सोहन जो 48 साल और चाची रमनी 46 साल और मौसा जगन्नाथ 42 मौसी सरला 40 साल और मेरी भाभी मीनू 21 साल है। जब भाई की शादी सर्दी में थी। काफी ठंड पड़ रही थी। मेरे घर कच्चा है पर बहुत बड़ा है। जब रात को सब बातें रहे थे। तभी मेरी मीनू भाभी मेरे पास और बोली पुनीत कैसे हो मैने कहा ठीक हूँ उस वक़्त मेरी नियत ठीक थी। भाभी ने कहा कभी अपनी भाभी से भी आके मिल लिया करो मैने कहा ठीक है अबकी बार जरूर आऊँगा।

फिर सब ने खाना खाया और अपनी अपनी कमरे में ग़ुस गये। मम्मी ने कहा तुम मीनू के साथ लेट जाओ। भाभी ने मम्मी से कहा पर ये मेरे साथ मम्मी अरे बच्चा है अभी लिटा लो। फिर भाभी ने एक बहुत डिली मैक्सी पहनी और बालों को खुला रक्खा और हम एक ही रजाई में ग़ुस गये। फिर भाभी से पूछा भाभी भईया क्यों नही आये वो बोली तेरे भईया सहेर में काम करते हैं दो महीने में एक दो बार ही आते है।

और रात को मै भाभी से लिपट कर सो गया। सुबह भाभी नहा रही थी तो मेरी नजर भाभी पर पड़ी उनकी चुचिया देख कर मेरा लड़ टनटना गया। और मेरी नियत खराब हो गयी। दिन में मैने देखा मेरे चाची और मम्मी कुछ बात कर रही थी। फिर चाची ने पता नही कैसे पर मम्मी की दोनों चूचियो अपने दोनों हाथो से दबा दिया मम्मी आह क्या कर रही है तू चाची देख रही हु गर्मी ख़त्म तो नही हो गयी।

मम्मी देखना है तो भेज दे अपने मर्द को मेरे पास चाची उसके में अब दम नही है। इतना कहकर मम्मी चली गयी। रात को भाभी मेरे पास लेटी और मुझसे पूछा पुनीत तुझे कैसी लड़की पसंद है मैने कहा मुझे आपकी जैसी पसंद है भाभी हँसने लगी और मेरे एक दम करीब आकर लेट गयी उनकी गर्मी से मेरे लड़ खड़ा हो गया और वो मेरे पेट पे हाथ फेर रही थी।

उनका हाथ मेरे लड़ से लग गया वो बोली ये क्या है पुनीत दिखावो मैने कहा कुछ नही वो जबरदस्ती रजाई हटाने लगी। मेरी नेकर में टैंट बना हुवा था। वो समज गयी की क्या था। फिर रजाई डाली और बोली तुमने किसी के साथ किया है मैने कहा क्या वो बोली प्यार और क्या मैने नही कहा और वो बोली मेरे साथ करोगे तो मै बोला आप तो मेरी भाभी हो आपसे कैसे वो मेरी तरफ करवट लेते हुए बोली आज कल जो करते है देवर भाभी ही करते है। और बोली किसी से कहना मत मेरा समज गया भाभी गर्म हो चुकी है।

उन्होंने अपने हाथ मेरी चड्डी में डाला और मेरे लड़ को पकड़ लिया और बोली पुनीत तेरा तो तेरे भैया से भी बड़ा है और मेरे हाथ को अपनी मैक्सी के ऊपर से चुचियो पर रखा और बोली पुनीत अपनी भाभी की चुचियो को दबाव ना उनके गुलाबी होट को मेरे होट पर रख कर चुसने लगी और फिर वो इतनी गर्म थी की मेरे लड़ को मुह में लेके चुसने लगी।

मै आह….भाभी…..मै….. छूट…जाऊँगा और वो फच्च की तरह मेरा लड़ चूस रही थी। मैं स्स्स आह कर रहा था फिर मै छूट गया मेरा मॉल भाभी के होटो पर और मुह में चला गया और और भाभी ने मेरा एक हाथ अपनी बुर पर रख दिया और बोली आज से ये तेरी मेरे राजा जितना मन करे मुझे चोदने का चोद लेना और अपनी मैक्सी उतार कर नंगी हो गयी।

मुझे चिपका कर एक चूची मेरे मुँह में देदी और मै उनके निपल्स को चूसता रहा कुछ देर बाद मेरे लड़ फिर से खड़ा हो गया और भाभी बोली पुनीत अब इसे मेरी बुर मेडालो मै लड़ सेट नही कर पाया उन्होंने मुझे अपने ऊपर लिटा कर मेरे लड़ को अपनी चूत पर सेट किया और मैने तुरंत उसे पेल दिया भाभी चिलाने लगी।

आह..चिलाने लगी साले मेरी चूत फाड् दी इतनी तेज क्यों डाल दिया और फिर मै दक्के लगाने लगा। भाभी आह….सस्स धिरे करो मर जाऊँगी उमआआआ हासस्स धिरे चोद और फच्च की आवाजें आ रही थी तभी भाभी चिलाई मै गयी आह……आँखे बंद कर ली फिर मेरे लड़ पर भाभी का रस से मै भी झड़ गया और पूरा माल भाभी की बुर मेछोड़ दिया।

और बगल में गिर गया और सो गया। फिर सुबह उठा तो भाभी के पास गया तो वो मुझसे बात नही कर रही थीं मैने कहा क्या हुवा हो गुस्से में बोली तुमने मुझे कल जबरदस्ती चोद दिया मैने ने कहा पर आप ने ही तो सुरुवात की थी फिर उन्हीने कहा मैने कहा था आराम से करना मेरी बुर में दर्द होने लगा है। फिर मैने माफ़ी मांगी और वो मान गयी।

फिर दिन मै उन्होंने साडी पहनी थी और मैने उन्हें पीछे से उनकी चूचियों को पकड़ कर ब्लाउज के ऊपर से मसलने लगा वो बोली कोई आ जाय गया हटो। फिर उन्होंने कहा रात को तुमको कुछ दिखा दू गी। मैने कहा क्या वो बोली रात को बताऊँगी। फिर साम को उन्होंने मुझे बुलाया और मुझे घर के पीछे जहा कोई नही जाता वहा ले गयी। वहा दो कमरे थे जिसमें भूसा पईरा पड़ा था ।

दोनों कमरो के बीच एक किडकी थी। उन्होंने मुझसे कहा आज तुम मेरे रेप करो। मैने उनकी साड़ी उतार दी वो ब्लाउज और पेटीकोट में थी मैने उनके ब्लाउज को फाड़ डाला और उनकी चुचियो को रगड़ने लगा हो भी गर्म हो कर मेरे किस करने लगी और बोली मोसम गर्म हो गया।

इतने में किसी की आवाज आयी और भाभी ने मुझे चुप रहने का इसहरा किया। और सामने वाली किड़की से मुझे बुलाया और कहा था ना तुंमको कुछ दिखाऊँगी। मैने देखा तो दग रह गया। मेरी मम्मी और चाचा जी थे। चाचा जी मम्मी के ब्लाउज के ऊपर से उनकी चुचियो को दबा रहे थे और बोल रहे थे भाभी तुंमको कब से चोद रहा हूँ याद है मम्मी बोली हा देवर जी आपने तो दो बार अपना बीज मेरी कोख में डाल और मुझे चोदा। अब चोदो जल्दी से फिर चाचा ने मम्मी को नगा किया और अपने लड़ को उनकी चूत में पेल कर दक्के लगाने लगे। भाभी ने कहा तुम्हारी मम्मी को मेरे ससुर चोद रहे है तुम मुझे चोदो।

मैने उनकी कमर से पेटीकोट का नारा खिंचा और उनकी उनकी दोनों टाँगों को फैलाया और अपना लड़ उनकी चूत पर रखा और एक दक्के में अंदर कर दिया । भाभी आह…धिरे करा कर और तेजी से दक्के लगाने लगा…भाभी….आह….उमआआआ…..और आह ….सस्स्सा की आवाज निकलने लगी मेरी मम्मी की भी आवाज आ रही थी। और फिर भाभी निच्चे से भी कमर हिलाने लगी कुछ देर बाद मेरा माल निकल गया। फिर मैंने उठकर देखा तो चाचा मैम्मी की गाड़ मर रहे थे मम्मी आह….सस्स……मर गयी आह चाचा कह रहे थे ले साली मुझे पता है तू अपने समधी से भी चुदवा ले लेगी और फिर चाचा ने अपना माल मम्मी की गाड़ में छोड़ दिया।

फिर मै मम्मी में अपने कपड़े पहने और दोनों वहा से चले गये। भाभी से मैने पूछा तुंमको कैसे पता चला वो बोली कल रात को मै उठ कर पिसाब करने गयी थी। तब मैने देखा सुरेखा नीचे लेटी थी और मेरे ससुर उनके ऊपर से चोद रहे थे। फिर वो बोली मेरी सास को भी जागनाथ से चुदवा दूँगी। मैने क्यों कहा तो वो बोली जिसमे मुझ पे कोई ऊँगली ना उठाय।

फिर अगले दिन भईया के सास ससुर आये और सादी में क्या और कैसे हो बातचीत सुरु हु वी। सास कल्पना 44 और ससुर मधुर 46 के है वो लोग जाने लगे तो मम्मी ने रोक लिया बोली समधी जी कल जाना अब। मै समझ गया कि मम्मी आज अपने समधी का लड़ लेंगी। साम को मम्मी में अपने समधी को खेत दिखने ले गईं।

और मै उनके पीछे गया मम्मी ने पिली साड़ी और सूटर पहना था जिसमे उनकी कमर और तोदी दिख रही थी। फिर उन्होंने कुछ बाते कर खेत दिखाए और वापिस आगई।मुझे लगा था की शायद कुछ होगा पर रात को भाभी से बताया तो वो बोली ठीक है करने दे। और रात मम्मी और समधी जी आग तापते हुए बात कर रहे थे।मम्मी सुंटर के सारे बटन खोल कर बैठी थे समधी जी उनकी चुचियो को देख रहे थे। फिर मम्मी उठ कर समधी जी को बिछे वाली कोटरी में लेगयी।

मै भी गया और देखा तो मम्मी अपने सूटर को उतार दिया। मधुर जी बोले अरे समधन जी क्या हुवा मम्मी ने कहा गर्मी लग रही है फिर मधुर ने कहा तो साड़ी भी उतार दीजिये। मम्मी ने अपनी साड़ी उतार दी मधुर की आँखे फटी रह गयी। और मम्मी बोली समधी जी और कुछ फिर मम्मी ने कहा अब सर्दी लग रही है फिर मधुर जी में उनके पास जाके उनके लाली को चुसने लगे और मम्मी ने उनकी पेंट को उतार दिया और उनका लड़ को मसलने लगी।

बोली लगता है आज आप अपनी समधन को ठंडा कर दो गे। मधुर बोले सुबह से तुमने अपनी चूचिया को दिखा कर मुझे गर्म कर दिया है और मधुर जी ने मम्मी ने ब्लाउज को उतार दिया ब्रा ना होने के वजह से उनकी बड़ी चुचिया को दबाने लगे। मम्मी बोली आह….धिरे धिरे दबाव ना राजा फिर ससुर जी ने उनके पेटीकोट में अपना हाथ डाल कर उनकी चूत को सहलाने लगे बोले अरे रानी तेरी चूत बहुत गर्म है मम्मी हाआआ… समधी जी डालो अपने लड़ को फिर मम्मी को लिटा कर उनकी दोनों टाँगों को ऊपर उठा दिया और उनकी चूत इतनी गीली थी की मधुर जी लंड अंदर ग़ुस गया मम्मी आह…..मधुर जी कितना गर्म लड़ है तुम्हारा फच्च फच्च की आवाजें आने लगी मम्मी आह….चोदो और तेज हाआआ ….उमआआआ ….सस्स चोदो.. अपनी रानी को हाआआ …..चोदो तेरी बेटी को मेरा बेटा चोदेगा तुम आह उमआआआ उसकी माँ चोद दो मधुर जी पुरे जोस् में तेजी से आह आह कर रहे थे फिर उनका माल मम्मी की चूत में भर गया मम्मी की चूत से उनका माल बाहर निकल रहा था।

फिर मेरा भी मन करने लगा मै जल्दी से गया और भाभी को ढूढ़ने लगा फिर भाभी मिली और उनको पकड़ कर उनकी चुचिया दबाने लगा वो बोली पुनीत अभी नही सब है। फिर रात को मेरी मौसी आयी और बोली पुनीत तुम मेरी साथ लेटना मुझे लगा मेरी रात खराब होगयी।

लेकिन रात मौसी ने एक पिंक नाइटी पहनी थी उनकी चुचिया मस्त टाइट थी। उन्होंने मुझसे कहा क्यों आज कल भाभी के पास खूब लेटते हो मै कुछ नही बोला फिर उन्होंने अपने हाथ से मेरे लड़ को पकड़ लिया मै बोला मौसी क्या कर रही हो वो बोली कुछ नही बस जो तुम्हारी भाभी करती है वही कर रही हूँ। फिर उन्होंने कहा मुझे पता है तुम अपनी भाभी की रोज चुदाई करते हो।

आज मेरी भी कर दो उन्होंने अपनी नाइटी को उतार दिया और अपनी मोटी चुचियो को मेरे मुह में दे दिया मै चुसने लगा वो आह… आराम से पियो ना मेरे दूधो को फिर कुछ देर बाद मै ने उनकी चूत में ऊगली कर दी वो चीख़ ऊटी बोली धिरे कर फिर उन्होंने मुझे कहा इसे चाटो मैने मना किया पर फिर उनकी दोनों टांगो के बीच उनकी चूत पर मुँह रख दिया और उनकी चूत को मै अपनी ओर चुसने लगा वो आह..क्या कर रहा है अपनी जवान से चाट फिर मै अपनी जीभ को उनकी योनी में डाल कर अंदर बहर करने लगा हो मदहोश हो गईं बोली आह…चुसो इतने दिनों से नही चुदी हूँ..उमआआआ मर गयी सिसस्स चूस आह ले आह गयी मै आह सिसस्स फिर उन्होंने कहा अब डाल अपना लड़ जल्दी से चोद दे मुझे आह फिर मैंने उनकी चूत पर तेजी से लड़ डाल दिया हो चिलाने लगी आह…कितना मोटा है तेरा और मै दक्के मारने लगा अपने दोनों हाथों से उनके निपल्स को दबाने लगा हो वो आह…Jकरो चोद….दो…..और तेज……आह…..फिर वो झड़ गयी मै उनकी चूत मार रहा था। फिर वो बोली अंदर मत छोड़ना लेकिन मैंने अंदर ही बिज डाल दिया ।

वो बोली ये क्या किया मै गर्वती हो जाऊँगी। फिर मै ने उनसे पूछा की आप को कैसे पता मै भाभी को चोदता हु। वो बोली मुझे तेरी भाभी ने ही बताया था। फिर मैने कहा क्यों वो मुझे अपने कमरे में ले गयी और दिखया तो मैं दग रह गया मेरे मौसा मेरी भाभी को चोद रहे थे और भाभी चीला रही थी। फिर मौसी ने बताया कि अब तेरे मौसा कल्पना जी को चोदने को कह रहे हैं मैने कहा मौसा को पता था तुम मुझसे चुदने आयी हो वो बोली हां।

मै ने कहा आप लोग कब से ये सब कर रहे हो बोली सबसे पहले मैने तुम्हारी मम्मी को अपने पति से चुदवा दिया फिर उन्होंने ना जाने कितने लड़ लिए मैने अपने देवर से खूब चुदवाती थी एक दिन मेरे पति ने देख लिया। तब से हम दोनों यही करते है। फिर भईया की शादी वाले दिन सबने खूब मस्ती की रात को सभी औरतो को सभी मर्दो ने खूब चोदा फिर मेरी भाभी आयी उनकी मस्त जवानी पर मै फ़िदा हो गया सब महमान चले गये। फिर कुछ दिन बाद भाभी ने भईया की लड़ाई हुवी और भाभी अपने घर चली गयी। मै और मम्मी भाभी को लाने गये।

जब हम भाभी के घर पहुचे फिर मम्मी ने भाभी से बात की भाभी नही मानी। फिर मैंने उनके कमरे में गया भाभी ने सालार कुरता पहना था उनकी चुचिया के निपल्स जलक रहे थे। मैने कहा भाभी क्या बात है वो कुछ नही बोली फिर जोर देने पर वो बोली तुम्हारे भईया मुझे प्यार नही कर पाते मै मैने कहा मतलब वो बोली गुससे में मतलब मुझे सन्तुष्ट नही कर पाते। मैने कहा पर आप घर चलो नही तो बदनामी होगी वो नही मान रही थी।

फिर मैंने कहा अगर मै आपको सन्तुष्ट कर दू तो वो बोली तुम कैसे करो गे। फिर मैंने उनको उनके बिस्तर पर लिटा दिया और उनके लिपस्टिक को चसने लगा हो गर्म हो गयी फिर मने कुर्ते के ऊपर से उनकी चूचियों को मसलने लगा वो आह..की आवाज होने लगी फिर उन्होंने मेरी पैंट उतार दी और मेरे लड़ को पकड़ कर सहलाने लगी मैने उनके सालार का नारा खिंच कर डिला कर उतार दिया और उनके कुर्ते को भी उतार दिया उन्होंने एक काली पैंटी और सफ़ेद ब्रा पहनी थी।

मैने उनके पैंटी में अपना हाथ डाल कर उनकी चूत में उंगली करने लगा। वो आह…धिरे करो,सिसस्स डिरेसस्स कर रही थी। फिर मैने उनकी ब्रा खोल दी और उनके निपल्स को मसलने लगा उनकी आँखें बंद होने लगी फिर निपल्स को मुह में भर लिया और चुसने लगा क्या आनंद था फिर उनकी पैंटी उतार दी और उनकी चूत पर अपनी जीभ ले के चुसने लगा वो आह….प्लेसस्स धिरे करो सस्स उमआआआ आह चुसो उमआआआ सससससस आह फिर उन्होंने अपना पानी छोड़ दिया फिर मैंने अपने लड़ को उनकी बुर पर रखा अंदर डालने लगा इतनी टाइट बुर थी की लड़ अंदर नही जा रहा फहिर मैने पाउडर का डिब्बा रखा था ।

मैने उनकी चूत पर डाला और अपने लड़ पर फिर टोपी की उनकी बुर पर टिका कर अंदर पेल दिया वो तेजी से चीला ऊटी औरत तड़फने लगी बोली बाहर निकाला मर जाऊँगी निकालो फिर मैंने धिरे धिरे दक्के लगाने सुरू किए उनकी चूचियों को दबाने लगा फिर उनको भी मजा आने लगा और वो आह… देवर जी करो आह सस्स तुम से ही चुदवागी आह उमआआआ आह चोदो तुम मेरे पति हो अपनी बीबी की लो आह फिर हम दोनों साथ झाड़ गये। फिर भाभी ने मुझे किस किया और फिर घेर जाने को तैयार हो गयी।

लेकिन मधुर जी ने हम लोग को रोक लिया और बोले समधन जी अब कल जाना। मै समझ गया मम्मी को चोदने के चक्कर में है। फिर रात को मेरी नजरें मम्मी के ऊपर थी। फिर रात को मधुर जी के। एक दोस्त भी आये। उन दोनों ने शराब पी मम्मी सामने नाइटी पहने बैठी थी। ससुर जी और उनके दोस्त मम्मी की चुचियो को देख रहे थे। फिर कल्पना जी भी आई और मधुर जी के दोस्त के बगल में बैठ गयी।

उन्होंने भी सेक्सी नाइटी पहनी थी। फिर पंकज ससुर के दोस्त का नाम है। उन्होंने कल्पना जी की जागो पर हाथ रख दिया। और ससुर ने मम्मी की चुचियो पर हाथ रख दिया। मै समझ गया आज कुछ नया होगा। फिर पंकज कल्पना की चूचियों को दबाने लगे और कल्पना जी आह…आआआआ…..आराम से करो पंकज हां भाभी और फिर मधुर जी ने मम्मी की नाइटी खोल दी और ब्रा खोल दिया मम्मी की मस्त चूचियों को आजाद कर दिया।

मम्मी आह…उमआआआ सस्स कर रही थी फिर पंकज कल्पना जी की चूत में अपना लड़ डाल कर दक्के लगा रहा था। कल्पना जी उमआआआ…..स्स्स…..आह….धिरे करो अपनी चूत पर अपने हाथ चला रही थी। मम्मी की भी चूत में ससुर जी का लड़ जा चुका था वो भी आह….और तेज …चोदो …फाड़ ….दो मेरी चूत…. हां ….समधी जी…. हाय रे… हचक कर चोदो …..आह.. हाँ ..हां …हां हा …ऐसे ही चोदो… फिर ससुर जी हफ्ते हुए झड़ गये।

लेकिन कल्पना जी अभी भी चुदवा रही थी वो आह… चोद ….जल्दी चोद साले …आह… हाय मेरी चूत फट गई फिर पंकज ने उनकी भी चूत में माल गिरा दिया।

दोस्तों मेरी स्टोरी कैसी लगी मुझे बताये और कंमेंट करे।।।।

ध्न्यवाद।।।।

दोस्तो, आपको मेरी aunty ki chudai सेक्स कहानी कैसी लगी.. मुझे मेल ज़रूर करना, मुझे आपके मेल का इंतज़ार रहेगा।
error: Content is protected !!


Fufa ne maa or buva ko pela sex storychachi ko train me chodanonvegstory comचुदाई मम्मी नोन वेज कहानीचोदा चोदी का खेलकेवल दर्द भरी चुदाई की कहानियाँ????antarvasna parivarhot sex stories in hindiantarvasna photos hotCHRISTMAS PARTY ME CHUDAI KAHANIABhabhi ki chudai real storyमा बेटे की च**** की हिंदी कहानीdownload hindi sex storyindian fucking imageshospita.me.xxx.com.hindi.me.boli.jabardastikamkutahindi sexstorysex storeysexi hindi storyकहानी मेरी चूदाइ कीkamasutra sex story in hindimummy ki chudaikamukta. comsex story audioantarvasna rapeantarvasna lesbianmast cudai kahaniholi ki antarvasna storyhindi sex story in antarvasnachut landजोधपुर की हसीन चुदाईincest stories in hindisex kahani hindi antarvasnahdadult story in hindiWww sapna Chaedhri xxx wallpaperचूढाईकेफयढेफोटोAntarvasna.com astha ki chudaihindi antarvasnadost ki ma ko chodaantarvasansex kadaluSali ki chutkamasastry kathalusexy hindi kahaniyaantarvasna sex kahani hindichut chudai of saliantravasanahindi sambhog kahaniya.पापा ने चोद चोद कर माँ बनाया XXX HD इमेजindian sex imageसुहागदीन मनाया चोद के mmsmausi ki beti ko chodaantarvasna sexstoriesantarvasna ki kahani hindihindi long sex storiesantarvasna new story in hindiantarvasna ki kahani hindi mechodanhindi mastram story saxydownload hindi sex storybangal khet me chudai fotochudai ki kahani in hindigujrati antarvasnaApne bete ko Muth marte dekh ker chudavaya xxx photo kahanihindi antarvasnaनौकर से बेटा गांड मरवाने कि कहानियांsax storyदीदी ने मुझे चूत दीrandi maa ko chodabua ko chodaantarvasna with bhabhiantervasanahindi kahani antarvasnaBahu ki jabardasti chudai ki antarvasna kahaniantarvasna chudai kahanikannadasex storiesantravasna.commom ko chodaantarvasna taiswaming me kapda utra chudaiमेरे देवरजी का लम्बा लौडा सैक्सी कहानी pdf antarvasna mastramBivi ki iccha puri ki chudai ki kahaniदुकानात जवाजवीtadap ek pariwar ki dastan sex story pdfmalayalm hot sex storyesmeri mast chudaiBhabhi devar hindi chudai sex kahaniya with photokpade kal ke chodaantarwasna